User-agent: * Disallow: /wp-admin/ Allow: /wp-admin/admin-ajax.php Sitemap: https://rvnstudy.com/sitemap_index.xml

दृष्टांत अलंकार की परिभाषा, उदाहरण सहित | Drishtant Alankar

दृष्टांत अलंकार की परिभाषा एवं उदाहरण | Drishtant Alankar

दृष्टांत अलंकार किसे कहते है?

दृष्टांत अलंकार की परिभाषा: पहले कही हुई किसी बात को स्पष्ट करने के लिए उससे मिलती-जुलती दूसरी बात कही जाए, तब ‘दृष्टांत अलंकार’ होता है।

यह भी पढ़ सकते है – हिंदी साहित्य की प्रमुख पत्र-पत्रिकाएं, स्थान, वर्ष एवं उनके संपादक के नाम सहित

Drishtant Alankar ke Udaharan

उदाहरण – जपत एक हरिनाम के पातक कोटि बिलाय।

               लघु चिनगारी एकते घास ढेर जरि जाय।।

यह भी जरूर पढ़ें: समास | रस | पल्लवन | संक्षेपण और सम्पूर्ण हिंदी व्याकरण

आप नीचे दिए अलंकारों को भी पढ़ सकते है

अनुप्रास अलंकारयमक अलंकारश्लेष अलंकार
पुनरुक्ति | वीप्सा अलंकारवक्रोक्ति अलंकारविशेषोक्ति अलंकार
उपमा अलंकारप्रतीप अलंकाररूपक अलंकार
उत्प्रेक्षा अलंकारव्यतिरेक अलंकारविभावना अलंकार
अतिशयोक्ति अलंकारउल्लेख अलंकारसंदेह अलंकार
भ्रांतिमान अलंकारअन्योक्ति अलंकारअनंवय अलंकार
दृष्टांत अलंकारअपँहुति अलंकारविनोक्ति अलंकार
ब्याज स्तुति व ब्याज निंदा अलंकारविरोधाभास अलंकार
अत्युक्ति अलंकारसमासोक्ति अलंकारमानवीकरण अलंकार

Latest Posts: