User-agent: * Disallow: /wp-admin/ Allow: /wp-admin/admin-ajax.php Sitemap: https://rvnstudy.com/sitemap_index.xml

मानवीकरण अलंकार किसे कहते है, परिभाषा और उदाहरण

मानवीकरण अलंकार की परिभाषा, प्रमुख उदाहरण

मानवीकरण अलंकार किसे कहते है?

मानवीकरण अलंकार की परिभाषा – जहाँ अचेतन वस्तु का चेतन अथवा जीवित (प्राणी) के समान वर्णन किया जाये अर्थात जब प्रकृति के पदार्थो पर मानवीय क्रियाकलापों का आरोप कर दिया अथवा प्रकृति की वस्तुओं को मनुष्य की तरह कार्य करते हुए प्रकट किया जाये, वहां मानवीकरण अलंकार होता है।

जब अचेतन प्रकृति में कवि चेतना आरोपित करता है अर्थात प्रकृति पर मानवीय क्रियाकलाप आरोपित किया जाता है तब वहां मानवीकरण अलंकार होता है।

उदाहरण –

1. बीती विभावरी जाग री। अंबर पनघट में डुबो रही तारा नागरी।

व्याख्या – उपर्युक्त उदाहरण में ‘उषा’ पर ‘ नगरी’ का आरोप होने के आरोप है।

मानवीकरण अलंकार के उदाहरण – Manvikaran Alankar

2. प्रकृति के यौवन का शृंगार, करेंगे कभी न बासी फूल। 

व्याख्या - उपर्युक्त उदहारण में प्रकृति को एक ऐसी नवयुवती के रूप में दिखाया गया है जो अपनी युवावस्था को स्वच्छ और ताजे फूलों से सजाती है। 
3. धीरे-धीरे हिम आच्छादन, हटने लगा धरातल से।  लगी वनस्पतियां अलसाई, मुख धोती शीतल जल से।

ये भी पढ़ें – अलंकार की परिभाषा, भेद, 50 उदाहरण सहित | Alankar in Hindi

Related Posts –

अनुप्रास अलंकारयमक अलंकारश्लेष अलंकार
पुनरुक्ति | वीप्सा अलंकारवक्रोक्ति अलंकारविशेषोक्ति अलंकार
उपमा अलंकारप्रतीप अलंकाररूपक अलंकार
उत्प्रेक्षा अलंकारव्यतिरेक अलंकारविभावना अलंकार
अतिशयोक्ति अलंकारउल्लेख अलंकारसंदेह अलंकार
भ्रांतिमान अलंकारअन्योक्ति अलंकारअनंवय अलंकार
दृष्टांत अलंकारअपँहुति अलंकारविनोक्ति अलंकार
ब्याज स्तुति अलंकारब्याज निंदा अलंकारविरोधाभास अलंकार
अत्युक्ति अलंकारसमासोक्ति अलंकारमानवीकरण अलंकार

Recent Posts:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *