1857 की क्रांति के नायक, पूछे गये प्रश्‍न, प्रमुख केन्‍द्र और नायक, सेनानी

1857 का स्‍वतंत्रता संग्राम

  • 1857 की क्रांति: 1856 में अंग्रेजों ने पुरानी बंदूक ब्राऊन बैस के स्‍थान पनर नई एनफील्‍ड राइफल को प्रयोग करने का निर्णय लिया। उनके लिए जो कारतूस बनए गए उन्‍हें राइफल में भरने से पहले मुँह से खेलना पड़ता था।
  • इन कारतूसों में गाय और सुअर की चर्बी का प्रयोग किया गया था। यह चर्बी वाला कारतूस ही 1857 की क्रांति का प्रमुख कारण बना।
  • 29 मार्च 1857 ई. को बैरकपुर में सैनिकों ने चर्बी वाले कारतूसों का प्रयोग करने से इंकार कर दिया और सैनिक मंगल पांडेय ने अपने एजुडेंट पर आक्रमण कर उसकी हत्‍या कर दी, फलस्‍वरूप उसे गिरफ्तार कर 8 अप्रैल, 1857 ई; को फाँसी दे दी गई। मंगल पांडे का संबंध 34 वाँ बंगाल नेटिव इन्‍फैट्री से था।
  • 10 मई, 1857ई. के दिन मेरठ की पैदल टुकड़ी 20 एन.आई. से 1857 ई. की क्रांति की शुरुआत हुई।
  • 1857 ई. में क्रांति के समय भारत का गवर्नर जेनरल लॉर्ड कैनिंग एवं इंग्‍लैड के प्रधानमंत्री पार्मस्‍टेन(लिबरल) थे।
  • अंग्रेजी भारतीय सेना का निर्माण 1748 ई. में आरंभ हुआ। उस समय मेजर स्ट्रिंजर लॉरेंस को अंग्रेजी भारतीय सेना का जनक पुकारा गया।

1857 की क्रांति के असफलता के उपरान्‍त अंग्रेजो द्वारा उठाए गए कदम

  • 1857 की क्रांति के असफलता के उपरान्‍त सेना में अंग्रेज सैनिकों और पदाधिकारियों की संख्‍या में वृद्धि की गयी। बंगाल की सेना में भारतीयों और अंग्रेज सैनिकों का अनुपात 2:1 का रखा गया, बम्‍बई और मद्रास की सेनाओं में यह अनुपात 5:2 का रखा गया।
  • बिहार, अवध  तथा अन्‍य उन स्‍थानों के व्‍यक्तियों को, जिन्‍होंने 1857 ई. के क्रांति में भाग लिया था,
  • गैर लड़ाकू घोषित किया गया और सेना में उनकी संख्‍या कम कर दी गई तथा सिख, गोरखा और पठानों को जिन्‍होंने 1857 के क्रंति को दबाने में अंग्रजों की मदद की थी, लड़ाकू जातियाँ घोषित की गयी और उन्‍हें बड़ी संख्‍या में सेना में भर्ती किया गया।
  • भारतीय को सेना में ऊँचे से ऊँचा प्राप्‍त होने वाला पद सूबेदार का पद था।
  • 1857 ई. की क्राति के समय अनेक इतिहासकारों ने अपने अलग अलग मत दिये हैं।

1857 की क्रांति के नायक

इतिहासकारमत
बी.डी. सावरकारयह भारत का प्रथम स्‍वतंत्रता संग्राम था
डिजरायलीयह राष्‍ट्रीय विद्रोह था
सर जॉन लॉरेन्‍स एवं सीलेयह पूर्णतया सिपाही विद्रोह था
जेम्‍स आउट्रम, डब्‍ल्‍यू. टेलरयह अंग्रेजों के विरुद्ध हिन्‍दू एवं मुसलमानों का षड्यंत्र था
टी. आर. होम्‍सबर्बरता तथा सभ्‍यता के बीच युद्ध था
एल.ई. आर. रीजयह धर्मान्‍धों का ईसाइयों के विरुद्ध युद्ध था
1857 ki kranti

1857 की क्रांति के नायक 1857 के प्रमुख स्‍वतंत्रता सेनानी

स्‍थान भारतीय नायक प्रारंभ दिनांक संबंधित अंग्रेज अंतिम दिनांक
दिल्‍लीबहादुरशाह जफर बख्‍त खाँ(सैन्‍य नेतृत्‍व)11,12 मई, 1857निकलसन(मारागया) एवं हडसन21 सितम्‍बर, 1857ई.
कानपुरनाना साहब(धुन्‍धु पंत), तात्‍या टोपे(सैन्‍य नेतृत्‍व)5 जून, 1857 ई.कैपबेल6 सितम्‍बर, 1857 ई.
लखनऊबेगम हजरत महल4 जून, 1857 ई.हेनरी लॉरेन्‍स(मारा गया), कौंपबेलमार्च 1858 ई.
झाँसीरानी लक्ष्‍मीबाईजून 1857 ई.ह्यूरोज3 अप्रैल 1858 ई.
इलाहबादलियाकल अली1857 ई.कर्नल नील1858 ई.
जगदीशपुरकुँअर सिंहअगस्‍त 1857 ईविलियम टेलर एवं विंसेट आयर1858 ई.
बरेलीखान बहादुर खाँ1857 ई.हडसन1858 ई.
फैजाबादमौलवी अहमद उल्‍ला1857 ई.कर्नल नील1858 ई.
फतेहपुरअजीमुल्‍ला1858 ई.जेनरल रेनर्ड1858 ई.
  • ह्यूरोज ने लक्ष्‍मीबाई की वीरता से प्रभावित होकर कहा था कि क्रांतिकारियों में वह एक अकेली मर्द थी।
  • तात्‍या टोपे का वास्‍तविक नाम रामचन्‍द्र पांडुरंग था। 18 अप्रैल, 1859 को शिवपुरी में अंग्रेजों द्वारा इन्‍हें फाँसी पर लटका दिया गया।

1857 ई. से परीक्षाओं में पूछे गये प्रश्‍न

  • अंग्रेजी भारतीय सेना में चर्बी वाले कारतूसों से चलने वाली एनफील्‍ड रायफल कब शामिल की गई थी। – दिसंबर, 1856 में पुराने लोहे वाली बंदूक ब्राउन बेस के स्‍थान पर नवीन एनफील्‍ड राइफल के प्रयोग का निर्णय लिया।
  • भारत के प्रथम स्‍वतंत्रता संग्राम का मुख्‍य तात्‍कालिक कारण था – अंग्रेजों का धर्म में हस्‍तक्षेप का संदेह
  • मंगल पांडे कहां के विप्‍लव से जुड़े हैं – बैरकपुर
  • 29 मार्च, 1858 को बैरकपुर में सैनिकों ने चर्बी वाले कारतूसों का प्रयोग करने से इंकार कर दिया और एक सैनिक मंगल पांडेय ने अपने एजुडेंट पर आक्रमण कर उसकी हत्‍या कर दी। मंगल पांडे 34 वीं बंगाल नेटिव इंफैंट्री के 6वीं कंपनी में एक सैनिक थे।
  • 1857 ई. की क्रांति का प्रमुख कारण क्‍या था – ब्रिटिश साम्राज्‍य की नीति
  • 1857 की क्रांति सर्वप्रथम कहां से प्रारंभ हुई – 10 मई मेरठ से प्ररंभ हुई थी।
  • बरेली विद्रोह के नेता कौन थे – खान बहादुर

रानी लक्ष्‍मीबाई को अंतिम युद्ध में सामना करना पड़ा – ह्यूरोज से

  • वह महिला जिन्‍होंने अवध में 1857 ई. की क्रांति का नेतृत्‍व किया था – बेगम हजरत महल
  • लखनऊ में 1857 ई. के स्‍वतंत्रता संग्राम का नेतृत्‍व किसने किया था – हजरत महल
  • अजीमुल्‍ला खां सलाहकार थे – नाना साहब के
  • नाना साहब का ‘कमांडर-इन-चीफ’ कौन था – तात्‍या टोपे
  • कुंवर सिंह अंग्रेजों के खिलाफ 1857 के विद्रोह में किस जगह शामिल हुए – आरा, वर्तमान बिहार जगदीशपुर के राजा थे।
  •  बिहार में 1857 ई. में विद्रोह किसने किया – कुंवर सिंह ने
  • पटना के 1857 के स्‍वतंत्रता संग्राम के नेता थे- राजपूत कुंवर सिंह
  • असम में 1857 ई. की क्रांति के नेता कौन थे – कंदपेश्‍वर सिंह
  • सुप्रसिद्ध उर्दू शायर मिर्जा गालिब का मूल निवास था – आगरा  उर्दू शायर मिर्जा गालिब का जन्‍म 27 दिसंबर, 1797 को आगरा में और मृत्‍यु 15 फरवरी, 1869 को दिल्‍ली में हुई थी।

ग्वालियर का किला || Gwalior fort

RVNSTUDY फेसबुक पेज

You may also like...

1 Response

  1. […] 1857 का स्‍वतंत्रता संग्राम Facebook Page […]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: